Blog Page

Shri_Padmanabhaswamy_Temple-Kovalam_Kerala

श्री-पद्मनाभस्वामी-मंदिर-कोवलम-केरल | Shri-Padmanabhaswamy-Temple-Kovalam-Kerala

केरल के तिरुवनंतपुरम में स्थित श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर, भगवान विष्णु को समर्पित एक प्राचीन और पूजनीय मंदिर है। इसकी उल्लेखनीय वास्तुकला, रहस्यमय कहानियां और ऐत ...

Somanath

सोमनाथ मंदिर_सौराष्ट्र_गुजरात | Somnath Temple _Saurashtra_Gujarat

सोमनाथ मंदिर: भारतीय मंदिर वास्तुकला का एक चमत्कार सोमनाथ मंदिर भारत में सबसे सम्मानित और प्राचीन मंदिरों में से एक है। गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में स्थित, म ...

Shri_mangeshi_temple_NN

श्री मंगेशी मंदिर – 16वीं शताब्दी ई.-गोवा | Shri Mangeshi Temple – 16th century AD-GOA

श्री मंगेशी मंदिर भारत में सबसे प्रसिद्ध और पूजनीय मंदिरों में से एक है। यह प्राचीन मंदिर गोवा के पोंडा तालुका में स्थित है और भगवान शिव को समर्पित है। माना जात ...

Nartiang Durga Temple (unknown) - Jaintia Hills district - Meghalaya

नर्तियांग दुर्गा मंदिर-जयंतिया हिल्स-मेघालय | Nartiang Durga Temple- Jaintia Hills – Meghalaya

मेघालय के जयंतिया हिल्स जिले में स्थित नर्तियांग दुर्गा मंदिर, भारत के सबसे पुराने और सबसे प्रतिष्ठित मंदिरों में से एक है। यह मंदिर अपनी अनूठी वास्तुकला, रहस्य ...

Govindaji Temple (18th century) – Imphal -Manipur

गोविंदजी मंदिर (18th century) इंफाल मणिपुर,18वीं शताब्दी | Govindaji Temple (18th century)– Imphal -Manipur

गोविंदजी मंदिर मणिपुर की राजधानी इंफाल में स्थित सबसे प्रसिद्ध भारतीय मंदिरों में से एक है। 18वीं शताब्दी में निर्मित, यह मंदिर भगवान कृष्ण को समर्पित है, और यह ...

Baidyanath Dham Temple -Deoghar _01

बैद्यनाथ धाम मंदिर – देवघर – 8वीं शताब्दी ई. – झारखंड | Baidyanath Dham Temple -Deoghar – 8th century ,AD – Jharkhand

बैद्यनाथ धाम मंदिर न केवल धार्मिक और आध्यात्मिक दृष्टिकोण से बल्कि वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी महत्वपूर्ण है। मंदिर की वास्तुकला और डिजाइन को उल्लेखनीय माना जाता है और यह प्राचीन भारतीयों के वैज्ञानिक और गणितीय ज्ञान का प्रमाण है। मंदिर का डिजाइन वास्तु शास्त्र के सिद्धांतों का पालन करता है, जो एक प्राचीन भारतीय वास्तु विज्ञान है जो भवनों के निर्माण के लिए दिशा-निर्देश देता है।